क्रेडिट कार्ड पर बोनस पॉइंट का झांसा देकर लगाते थे चपत, अरेस्ट

नई दिल्ली 
खुद को बैंक के क्रेडिट कार्ड डिविजन से बताकर लोगों को चपत लगाने वाले साइबर गैंग को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। ये लोग क्रेडिट कार्ड पर बोनस पॉइंट देने का झांसा देकर उनका ओटीपी पूछ लेते थे। पुलिस की गिरफ्त में आए आरोपियों की पहचान मंगोलपुरी निवासी 29 वर्षीय पंकज, उत्तम नगर निवासी 19 वर्षीय ऋषभ सक्सेना, ईस्ट जवाहर नगर निवासी 22 वर्षीय सुजीत और लोनी निवासी 35 वर्षीय राकेश कुमार के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपियों के पास से वारदात में इस्तेमाल 12 मोबाइल फोन, पांच क्रेडिट कार्ड व फर्जी आईडी पर लिए गए 17 सिमकार्ड बरामद किए हैं। 

डीसीपी नूपुर प्रसाद के मुताबिक, 26 मार्च को सब्जी मंडी निवासी रॉकी को आरोपियों ने कॉल करके खुद को एक्सिस बैंक क्रेडिट कार्ड डिविजन से बताया। क्रेडिट कार्ड की आखिरी चार डिजिट बताकर उन्हें बताया कि उनके कार्ड पर 20 हजार बोनस पॉइंट मिले हैं, जिनकी कीमत 10 हजार रुपये है। पॉइंट शाम चार बजे तक ही मौजूद रहेंगे। आरोपियों ने झांसे में लेकर रॉकी से उनके ट्रांजैक्शन का ओटीपी नंबर पूछ लिया। कुछ ही देर में रॉकी के खाते से अलग-अलग तीन ट्रांजैक्शन में 60 हजार रुपये निकल गए। 


पुलिस ने छानबीन के बाद मामला दर्ज कर लिया। इधर लोकल पुलिस के अलावा जिले की साइबर सेल ने मामले की छानबीन शुरू की। पुलिस रॉकी के खातों से ट्रांसफर हुई रकम की जांच करते हुए राकेश तक पहुंच गई। बाद में पुलिस ने सुजीत को पकड़ा। सुजीत ने बताया कि वह विकास नाम के युवक के साथ मिलकर फर्जी कॉल करता है। इसके लिए सारा डेटा उनको ऋषभ, पंकज और पवन मुहैया करवाते हैं। बाद में पुलिस ने ऋषभ और पंकज को भी पकड़ लिया। 

छानबीन के दौरान पुलिस को पता चला कि आरोपी पंकज व पवन कई बैंकों की क्रेडिट कार्ड डिविजन में काम कर चुके हैं। फिलहाल पवन व विकास की पुलिस तलाश कर रही है। दोनों की तलाश के लिए छापेमारी की जा रही है। आरोपियों ने खुलासा किया है कि पिछले काफी समय से इसी तर्ज पर सैंकड़ो लोगों को शिकार बना चुके हैं। पकड़े गए आरोपियों में राकेश बीए व ऋषभ बीसीए किए हुए हैं। 


RELATED STORIES